आज मौसम कुछ बदला – बदला सा लगा…
हवाये कुछ सर्द सी लगी…
फिज़ाओ में कुछ तो नया रंग था…
आज मौसम में कुछ तो नया ढंग था…
सोचा उड़ चलू इन हवाओ के संग…
गाती चलू इन फिज़ाओ के संग…
ऐसा लगा ज़िन्दगी को नया नजरिया मिल गया…
जो चाहा था वो पाके दिल खुशहाल हो गया…

Deepali Jain